तारीफ शायरी | Tareef Shayari in Hindi 2020

Tareef Shayari - तारीफ एक ऐसी चीज है जिससे आप किसी का भी दिल जित सकते है। आखिर  किसको अपनी तारीफ पसंद  नहीं होती है।  अगर आप  भी किसी की तारीफ करना चाहते हो तो य Tareef shayari आपके लिए है।  यहाँ इस लेख में मेने अलग अलग प्रकार की तारीफ Tareef Shayari लिखी हुई है जिनको पढ़कर और उसे करके आप  किसी का भी दिल जीत सकते है।


Tareef Shayari 

Tareef Shayari


यह चांद सा रोशन चेहरा जुल्फों का रंग सुनहरा, ये झील सी नीली आंखें कोई राज है इनमें गहरा, तारीफ करूं क्या उसकी जिसने तुम्हें बनाया, तारीफ करूं क्या उसकी जिसने तुम्हें बनाया।

तेरे इशारों पर मैं नाचूं क्या जादू ये तुम्हारा है, जब से तुमको देखा है दिल बेकाबू हमारा है, जुल्फें तेरी बादल जैसी आँख में तेरे समंदर है, चेहरा तेरा चाँद का टुकड़ा सारे जहाँ से प्यारा है।

मुझे मालूम नहीं, हुस्न की तारीफ, मेरी नज़रों में हसीं, वो है जो तुम जैसे हो।

ढाया है खुदा ने ज़ुल्म हम दोनों पर, तुम्हें हुस्न देकर मुझे इश्क़ देकर।

बड़ा हैरान हूं देखकर आईने का ज़िगर, एक तो तेरी कातिल नज़र और उस पर काज़ल का कहर।

यूँ तो आदत नहीं मुझे मुड़ के देखने की तुम्हे देखा तो लगा, एक बार और देख लूँ


Tareef Shayari in Hindi


मैं तुम्हारी सादगी की क्या मिसाल दूँ, सारे जहां में बे-मिसाल हो तुम।

नशीली आँखों से वो जब हमें देखते हैं ।, हम घबराकर आँखें झुका लेते हैं, कौन मिलाए उनकी आँखों से आँखें सना है, वो आँखों से अपना बना लेते है।

आसमां में खलबली है सब यही पूछ रहे हैं, कौन फिरता है ज़मीं पे चाँद सा चेहरा लिए।

यूँ ना निकला करो आज कल रात को चाँद चुप जायेगा देख कर आपको

हुस्न वालों को संवरने की क्या जरूरत है, वो तो सादगी में भी क़यामत की अदा रखते हैं।

उसने होठों से छू कर दरिया का पानी गुलाबी कर दिया, हमारी तो बात और थी उसने मछलियों को भी शराबी कर दिया।

Tarif Shayari


एक तिल का पहरा भी जरूरी है, लबों के आसपास, डर है कहीं तेरी मुस्कुराहट को, कोई नज़र न लगा दे।


क्या लिखूं तेरी तारीफ ऐ-सूरत में यार अल्फाज कम पड़ रहे है तेरी मासूमियत देखकर। 

कितना खूबसूरत चेहरा है तुम्हारा, ये दिल तो बस दीवाना है तुम्हारा, लोग कहते है चाँद का टुकड़ा तुम्हें, पर मैं कहता हूँ चाँद भी टुकड़ा है तुम्हारा।

गले मिला है वो मस्त-ए-शबाब बरसों में, हुआ है दिल को सुरूर-ए-शराब बरसों में, निगाह-ए-मस्त से उसकी हुआ ये हाल मेरा, कि जैसे पी हो किसी ने शराब बरसों में।

रोज एक ताजा  शेर कहाँ तक लिखूं तेरे लिए, तुझमें तो रोज़ ही एक न बात हुआ करती है। 

हैं होंठ उसके किताबों में लिखी तहरीरों जैसे, ऊँगली रखो तो आगे पढ़ने को जी करता है।

Tareef Shayari for girlfriend


कितनी खूबसूरत हैं आँखें तुम्हारी, बना दीजिये इनको किस्मत हमारी, इस ज़िंदगी में हमें और क्या चाहिए, अगर मिल जाए मोहब्बत तुम्हारी।

जो कागज पर लिख दू तारीफ तुम्हारी तो श्याही भी तेरे हुस्न की गुलाम हो जाये

ये आईने क्या दे सकेंगे तुम्हें तुम्हारी शख्सियत की खबर, कभी हमारी आँखो से आकर पूछो कितने लाजवाब हो तुम।

हटा के जुल्फ़ चहरे से , न तुम छत पर शाम को जाना , कहीं कोई ईद ना करले सनम , अभी रमज़ान बांकी है ।

कैदखाने हैं बिना सलाखों के, कुछ यूं चर्चे हैं तेरी आँखों के।

देख कर तेरी आँखों को मदहोश में हो जाता हूँ तेरी तारीफ किये बिना मैं रह नहीं पाता हूँ

Tareef Shayari for a beautiful girl


उनके हुस्न का आलम न पूछिये, बस तस्वीर हो गया हूँ, तस्वीर देखकर।

वो निगाहों से यूँ शरारत करते हैं, अपनी अदा से भी कयामत करते हैं, निगाहें उनकी भी चेहरे से हटती नहीं, और वो हमारी नजरो से शिकायत करते हैं।

न देखना कभी आईना भूल कर देखो, तुम्हारे हुस्न का पैदा जवाब कर देगा।

जरा सी देर के लिए सब कुछ भुला के देख लेते है, तुम्हें हम सामने बैठा कर देख लेते है, वो चेहरे कैसे होते है की जिनसे चाँद शर्माए, जरा तेरे चेहरे से जुल्फे हटा कर देख लेते है।

जरा उतर के देख मेरे दिल की गहराइयों में, कि तुझे भी मेरे जज़्बात का पता चले, दिल करता है चाँद को खड़ा कर दूं तेरे आगे, जरा उसे भी तो अपनी औकात का पता चले।

एक लाइन में क्या तेरी तारीफ लिखू, पानी भी जो देखे तुझे तो, प्यासा हो जाये

Khubsurti ki Tareef Shayari


कातिल तेरी अदाओं ने लूटा है, मुझे तेरी वफाओं ने लूटा है, शौंक नहीं था मुझे मर मिटने का, मुझे तो आपकी इन्ही निगाहों ने लूटा है।

यूँ न निकला करो आज कल रात को, चाँद छुप जायेगा देख कर आप को।

उनकी एक मुस्कराहट ने हमारे होश उड़ा दिए हम होश में आ ही रहे थे की वो फिर मुस्कुरा दिए। 

आफ़त तो है वो नाज़ भी अंदाज़ भी लेकिन, मरता हूँ मैं जिस पर वो अदा और ही कुछ है।

तेरे इशारों पर मैं नाचूं क्या जादू ये तुम्हारा है, जब से तुमको देखा है दिल बेकाबू हमारा है, जुल्फें तेरी बादल जैसी आँख में तेरे समंदर है, चेहरा तेरा चाँद का टुकड़ा सारे जहाँ से प्यारा है।

कितनी खूबसूरत हैं आँखें तुम्हारी, बना दीजिये इनको किस्मत हमारी, इस ज़िंदगी में हमें और क्या चाहिए, अगर मिल जाए मोहब्बत तुम्हारी।

इन आँखों को जब जब उनका दीदार हो जाता है दिन कोई भी हो, लेकिन मेरे लिए त्यौहार हो जाता है। 

FAQ

तारीफ कैसे करे?

अगर आप किसी की भी तारीफ करना चाहते है तो सबसे पहले आप उसके कपड़ो की तारीफ करे और उसके रहने के ढांग की। 


लड़कियों की तारीफ कैसे करे?

लड़कियों को अपनी तारीफ  बेहद पसंद होता है तो आप उनकी तारीफ आसानी से कर सकते है पर अपना दोस्त बना सकते है. आप सबसे पहले उनको फेस की तारीफ करनी है और फिर धीरे धीरे कपड़ो की और फिर वो आसानी से आपकी फ्रेंड बन जाएगी। 

Closing Lines:

आशा करता हूँ की आपको ये tareef shayari in Hindi पसंद आयी होंगी अगर आपको ये तारीफ शायरी पसदं आयी हो तो जरूर इनका उपयोग करे और नए नए दोस्त बनाये।  मेरा दवा है की इन शायरियों को पड़ने के बाद आपके बहुत सारे दोस्त बना पाएंगे। आप इस आर्टिक्ल को अपने दोस्त और चहेतो के साथ भी शेयर करे। 

Also, Check: 

Post a Comment

0 Comments