99+ Dard Bhari Shayari in Hindi | Dard Bhari Shayari 2020

हेलो दोस्तों आज हम बात करने जा रहे है dard bhari shayari के बारे में। दुःख हर किसी को होता है।  जिंदगी मतलब दुःख दर्द।  किसी को पड़ने का दुःख, किसी को पड़ने का दुःख, गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड का दुःख, गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड न होने का दुःख, किसी को नौकरी करने का दुःख तो किसी को नौकरी न मिलने का दुःख। हमारे चहरो तरफ दुःख ही दुःख होता है लेकिन किसी को बता नहीं सकते।  इसलिए आपके इस दुःख थोड़ा सा कम करने के लिए आपके लिए कुछ dard bhari shayari लेके आये है जिनको पढ़कर आपको ऐसा लगेगा जैसे की किसी के साथ अपने अपना दुःख जाहिर किया हो।  तो बिना और वक्त गवाए सीधे भड़ते है best dard bhari shayari की तरफ।


Best Dard Bhai Shayari 

Best Dard Bhai Shayari


तेरी फुर्सतों को खबर कहाँ मेरी धडकने उदास हैं



तेरे सिवा कोई मेरे जज़्बात में नहीं, आँखों में वो नमी है जो बरसात में नहीं, पाने की कोशिश तुझे बहुत की मगर, तू एक लकीर है जो मेरे हाथ में नहीं।



चलो अब जाने भी दो क्या करोगे दास्ताँ सुनकर,ख़ामोशी तुम समझोगे नहीं और बयाँ हमसे होगा नहीं।



बेखबर, बेवजह बेरुखी ना किया कर, कोई टूट जाता है तेरा लहजा बदलने से।



इन्ही पत्थरों पे चल कर अगर आ सको तो आओ, मेरे घर के रास्ते में कोई कहकशाँ नहीं है।

जब कभी फुर्सत मिले मेरे दिल का बोझ उतार दो,मैं बहुत दिनों से उदास हूँ मुझे कोई शाम उधार दो।

बिखर जाते हैं..... सर से पाँव तक, वो लोग... जो किसी बेपरवाह से बे-पनाह इश्क करते है।

बिछड़ कर आप से हमको ख़ुशी अच्छी नहीं लगती, लबों पर ये बनावट की हँसी अच्छी नहीं लगती, कभी तो खूब लगती थी मगर ये सोचते हैं हम, कि मुझको क्यों मेरी ये ज़िन्दगी अच्छी नहीं लगती।

अजब चिराग हूँ दिन-रात जलता रहता हूँ,थक गया हूँ मैं हवा से कहो बुझाए मुझे।


Sabse Dard Bhari Shayari


ये जो तुम लफ़्हज़ों से बार बार चोट देते हो ना दर्द वहीं होता है... जहाँ #तुम रहते हो।

ज़लज़ले यूं ही बेसबब नहीं आते, कोई दीवाना तह-ए-खाक तड़पता होगा।

ना वो सपना देखो जो टूट जाये, ना वो हाथ थामो जो छुट जाये, मत आने दो किसी को करीब इतना, कि उससे दूर जाने से इंसान खुद से रूठ जाये। 

आइने में अक्सर जो अक्स नज़र आता है, खुद से लड़ता हुआ एक शख़्स नज़र आता है, वो किसी बात पे खुद से खफा लगता है, नाकाम मोहब्बत का नक्श नजर आता है।

मैं किसे सुना रहा हूँ ये ग़ज़ल मोहब्बतों की, कहीं आग साजिशों की कहीं आँच नफरतों की, कोई बाग जल रहा है ये मगर मेरी दुआ है, मेरे फूल तक न पहुँचे ये हवा तज़ामतों की।

शेरो-शायरी तो #दिल बहलाने का ज़रिया है जनाब, लफ़्ज़ कागज पर उतारने से महबूब नहीं लौटा करते।

वही वहशत, वही हैरत, वही तन्हाई है मोहसिन, तेरी आँखें मेरे ख़्वाबों से कितनी मिलती-जुलती हैं।

आदतन तुम ने कर दिए वादे, आदतन हम ने ऐतबार किया। तेरी राहो में बारहा रुक कर हम ने अपना ही इंतज़ार किया। अब ना मांगेंगे जिंदगी या रब ये गुनाह हम ने एक बार किया।।

मोहब्बत में न अपना कोई ठिकाना रहा, सारी उम्र बस उनका आना-जाना रहा, हमने राज खुलने न दिए दिल के उनपर, खतों में हर्फ़ का लिखना मिटाना रहा।


Dard Bhari Shayari Images


बहुत मशरूफ हो शायद, जो हम को भूल बैठे हो, न ये पूछा कहाँ पे हो, न यह जाना कि कैसे हो।

कुछ मैं भी थक गया उसे ढूँढ़ते हुए, कुछ ज़िन्दगी के पास भी मोहलत नहीं रही, उसकी हर एक अदा से झलकने लगा खलूस, जब मुझको ऐतबार की आदत नहीं रही।

तोड़ा कुछ इस अदा से ताल्लुक उसने ग़ालिब, के सारी उम्र अपना क़सूर ढूँढ़ते रह गए।

अब तो तबियत हमारी बिगड़ने लगी है, कोई चाहत जो हमसे बिछड़ने लगी है, आरज़ू जो कोई दिल में दबी रह गयी, अब बन के धुआँ कहीं उड़ने लगी है, हर अक्स तेरा दिल की गहराई में है रूह दिल के ज़ख्मों से डरने लगी है। ~बलराम सिंह

क्या बात है, बड़े चुपचाप से बैठे हो.कोई बात दिल पे लगी हैया दिल कही लगा बैठे हो...

आपके बिन टूटकर बिखर जायेंगे, मिल जायेंगे आप तो गुलशन की तरह खिल जायेंगे, अगर न मिले आप तो जीते जी मर जायेंगे, पा लिया जो आपको तो मर कर भी जी जायेंगे।

अफसोस होता है जब हमारी पसंद कोई और चुरा लेता है, ख्वाब हम देखते हैं और हकीक़त कोई और बना लेता है।

भरोसा जितना कीमती होता है धोखा उतना ही महँगा हो जाता है।

मोहब्बत के भी कुछ अंदाज़ होते हैं, जगती आँखों के भी कुछ ख्वाब होते हैं, जरुरी नहीं के ग़म में आँसू ही निकले, मुस्कुराती आँखों में भी शैलाब होते हैं।


Sad Dard Bhari Shayari in Hindi


आखिरी बार तेरे प्यार को सजदा कर लूं, लौट के फिर तेरी महफ़िल में नहीं आऊंगा, अपनी बर्बाद मोहब्बत का जनाज़ा ले कर, तेरी दुनिया से बहुत दूर चला जाऊंगा।

किसी को न पाने से जिंदगी खत्म नहीं होती लेकिन किसी को पाकर खो देने से कुछ बाकी भी नहीं रहता|

जब्त से काम लिया दिल ने तो क्या फक्र करूँ, इसमें क्या इश्क की इज्ज़त थी कि रुसवा न हुआ, वक्त फिर ऐसा भी आया कि उससे मिलते हुए, कोई आँसू भी ना गिरा कोई तमाशा भी ना हुआ।

सुकून की तलाश में हम दिल बेचने निकले थे खरीददार दर्द भी दे गया और दिल भी ले गया|

तुम खास नहीं हो ,मगर हर सांस में हो, रू-ब-रू नहीं हो मगर ,हर एहसास में हो, मिलोगे या नहीं मगर ,मेरी हर तलाश में हो, चाहे पूरी हो या ना हो ,मगर हर आस में हो, दूर ही सही तुम ,मगर फिर भी पास ही हो।

आज बड़ी देर तक वो मोहब्बत दिखाता रहा मोहसिन, न जाने क्यों लगा कि वो मोहब्बत छोड़ जाएगा।

आँखों में रहा दिल में उतर कर नहीं देखा, कश्ती के मुसाफिर ने समंदर नहीं देखा, पत्थर मुझे कहता है मेरा चाहने वाला, मैं मोम हूँ उसने मुझे छू कर नहीं देखा। 

तेरी दुनिया में जीने से तो बेहतर है कि मर जायें, वही आँसू, वही आहें, वही ग़म है जिधर जायें, कोई तो ऐसा घर होता जहाँ से प्यार मिल जाता, वही बेगाने चेहरे हैं जहाँ जायें जिधर जायें।

मुँह की बात सुने हर कोई दिल के दर्द को जाने कौन, आवाजों के बाज़ारों में ख़ामोशी पहचाने कौन, सदियों सदियों वही तमाशा रस्ता रस्ता लम्बी खोज, लेकिन जब हम मिल जाते हैं खो जाता है जाने कौन।


Cry Dard Bhari Shayari in Hindi


आदत मेरी अंधेरों से डरने की डाल कर, एक शख्स मेरी ज़िन्दगी को रात कर गया।

चलो अब जाने भी दो क्या करोगे दास्ताँ सुनकर,ख़ामोशी तुम समझोगे नहीं और बयाँ हमसे होगा नहीं।

अजीब तरह से गुजर गयी मेरी भी जिंदगी, सोचा कुछ, किया कुछ, हुआ कुछ, मिला कुछ।

कभी मैं भी तेरी मोहब्बत के नशे में था, मेरी आँख में भी खुमार था, मगर अब नहीं, कभी ये दिल बाग़-ओ-बहार था, मगर अब नहीं, तेरा ज़िक्र वजह-ए-करार था, मगर अब नहीं।

तोड़ कर जोड़ लो चाहे हर चीज  दुनिया की... सब कुछ काबिल-ए-मरम्मत है... ऐतबार के सिवा...!!!

परवाह करने की आदत ने तो परेशां कर दिया, गर बेपरवाह होते तो सुकून-ए-ज़िंदगी में होते।

आखिरी शब्द  

आशा करता हूँ की आपको ये best dard bhari shayari पसंद आयी होंगी। अगर आपको ये dard bhari shayari in hindi पसंद आयी हो तो इनको अपने स्टेटस और स्टोरी पर जरूर शेयर करे और हमें कमेंट में बताये की आपकी बेवफा का किया रिएक्शन था।  अगर आप भी लिखते है तो हमें कमेंट करके बताये अगर आपका लिखा हमें पसंद आया तो हम उसको इस dard bhari shayari के लेख में जरूर लिखेंगे। 

इन्हे भी देखे: 

Post a Comment

0 Comments