99+ Best Sharab Shayari in HIndi 2020

शराब एक ऐसी चीज है जो काफी चीजों में काम अति है चाहे वो गम भुलाना हो, चाहे थकान मिटानी हो और भी काफी चीजों में ये काम आती है लेकिन सबसे महत्वपुर्ण काम जो ये करती है वो है एक आशिक़ के गम को दूर करकर उसे हसना। चूँकि एक आशिक़ के गम को जो भुला सके वो कोई भगवान ही होता है और ये शराब वो भगवान का काम करती है। अगर आप भी शराब के दीवाने है तो आज हम best sharab shayari in hindi लेके आये है जो आपको खुशिया बेशुमार देंगी। तो बिना वक्त और गवाए सीधे भड़ते है best sharab shayari की तरफ।    


Best Sharab Shayari in Hindi

Best Sharab Shayari in HIndi

न कर इतना गुरुर,,, अपने नशे पर शराब, तुझ से ज्यादा नशा रखती है.. आंखे किसी की..


ये दवा है रोग तो कुछ और है...



ग़ालिब से उनके दोस्त ने कहा - सुना है जो शराब पीते है उनकी दुआ कुबूल नहीं होती। ग़ालिब - जिन्हे शराब मिल गई उन्हें दुआ की जरूरत नहीं होती....



दर्द ही सही मेरे इश्क़ का इंसान तो आये, खाली ही सही बातों में जाम तो आये मैं हूँ बेवफा सबको बताये उसने, यूँ ही सही उसके लबों पे मेरे नाम तो आये...



दिल के बाग़ में जो खिले वो गुलाब हो तुम,, बिना पिए नशा आ जाये वही शराब हो तुम...


जो नशा उसकी आँखों में है वो नशा शराब में भी कहाँ।

मय छलक जाये तो कमजर्फ है पिने वाले, जाम खाली हो तो साकी तेरी रुसवाई है...

तुम्हारी आँखों की तौहीन है ज़रा सोचो, तुम्हारा चाहने वाला शराब पिता है...

कुछ भी बचा न कहने को हर बात हो गई, आओ कहीं शराब पिएं रात हो गई...

ऐसे न देखो हमें, जाम उतर जायेगा।  मोहब्बत का असर है, दीवाना बहक जायेगा।

Shayari On Sharab in Hindi

थोड़ा गम मिला तो घबरा के पी गए, थोड़ी ख़ुशी मिली तो मिला के पि गए, तुन तो हमें न थी ये पिने की आदत... शराब को तनहा देखा तो तरस खा के पी..

साहिल के सुकून से किसे इंकार है लेकिन, तूफ़ान से लड़ने में मज़ा ही कुछ और है..

मुझसे ज्यादा प्यार तोह तुम्हे तुम्हारी शराब से था,,, ऐसा भी क्या नशा चढ़ गया के तुमने मुझे पहचान ने से इंकार कर दिए...

हस्ते रहोगे तो दुनिया साथ है , वरना आंसुओ को तो आँखों में भी जगह नहीं मिलती !!

शराब इश्क़ से बेहतर है जनाब समझना है तो थोड़ा पीना पड़ेगा। 

शराब और सिगरेट ही नहीं मुसलसल खामोशी भी इंसान को ख़तम करदेती है।

कर रहा था गम ए जहाँ का हिसाब आज तुम याद बे-हिसाब आये। 

कैसे बरदास्त करूँ में गम तेरे जाने का तेरी यादें पूछ लेती है राह मयखाने का.. 

जो कभी न भर पाए ऐसा भी एक घाव है, जो हाँ उसका नाम लगाव है.

बनाने वाले ने शराब भी क्या चीज बनाई है साहब, पिटे ही चहरे ढूंढ़ले और किरदार साफ नजर आते है...

New Sharab Shayari 


इतने उदास रहने लगे खवाब आजकल, पिने लगा हूँ रोज में शराब आजकल। 

अब क्या बताऊँ तुझको कि, तेरे जाने के बाद इस दिल पर क्या-क्या बीती है, अब तो हम शराब को और शराब हमको पीती है!!


इतना बचा है पैमाने में,,, जितना छोड़ जाते थे महफिलों में!!!! 

उनकी आंखें यह कहती रहती हैं, लोग नाहक शराब पीते हैं!

#महखाने में अब ऐसी बात नहीं,,, तेरे शबाब से ज्यादा नशा की शराब में नहीं !!

पी है शराब हर गली हर दुकान से, एक दोस्ती सी हो गई है शराब के जाम से, गुज़रे हैं हम इश्क़ में कुछ ऐसे मुकाम से, की नफ़रत सी हो गई है मुहब्बत के नाम से.... 

नशा-ए-मय से कभी प्यास बुझी है दिल की, तश्नगी और बढ़ा लाए खराबात से हम!!

जाम पे जाम पीने से क्या फायदा दोस्तों, रात को पी हुयी शराब सुबह उतर जाएगी, अरे पीना है तो दो बूंद बेवफा के पी के देख सारी उमर नशे में गुज़र जाएगी .

शराब की हर बून्द में जायका खत्म हो गया.. नुक्सान इतना हुआ फायदा ख़त्म हो गया,,, कितने सन्नाटे पिए शमाआत ने के अब...  खुदा की खिदमत में कायदा ख़त्म हो गया....!!


गम इस कदर मिला की घबरा के पी गये, खुशी थोड़ी सी मिली तो मिला के पी गये, यूँ तो ना थी जनम से पीने की आदत, शराब को तन्हा देखा तो तरस खा के पी गये..    

Nasha Sharab Shayri


पीना काम आ गया.. लड़खड़ाये कदम तो गिरे उनकी बाँहों मे, आज हमारा पीना ही हमारे काम आ गया... 

कुछ नहीं बचा अब कहने को हर बात हो गई,,, आओ न कही शराब पिए, रात हो गई। 

तुम्हें जो सोचें तो होता है कैफ़ सा तारी तुम्हारा ज़िक्र भी जामे-शराब जैसा है.. शोखियों में घोला जाये फूलों का शबाब उस में फिर मिलाई जाये थोड़ी सी शराब होगा यूँ नशा जो तैयार वो प्यार हैं

जान जा रही है साकी मगर ना जाने दो ऐ-मेरे सरकार खुलवा दो मयखाने हम आदि है शराब लाने दो। 

आये कुछ अब्र कुछ शराब आये, उसके बाद आये तो अज़ाब आये, बाम-इ-मिन्हा से महताब उतरे, दस्त-ए-साक़ी में आफ़ताब आये। 


छलकते होठो से छू के होठो को उन्होंने प्याला बना डाला, पास आयी कुछ वो ऐसे, जिन्दगी को उन्होंने मधुशाला बना डाला। 

शराब तो महज एक जरिया है, हमें तो उन्हें अपनी नजरो से दूर करना है। 

Sharab Shayari 2 Line

तुम्हे जो सोचें तो होता है कैफ-सा तेरी, तुम्हारा जिक्र भी जमे-शराब जैसा है... 

शराब का शौकीन नहीं था में, में तो पिता हूँ इसलिए की कुछ लिख संकू और उन्हें भूल संकु।।

इश्क़ का दर्द हफ्ते दर हफ्ते बढ़ रहा था ! तो मेने शराब को अपना हाल-ए-दिल बयां कर दिया। 

उसकी आँखों  में जो नशा है वो शराब में कहाँ। होश खोने के लिए एक झलक ही काफी है। 

ज़ाहिद शराब पीने से , क़ाफ़िर हुआ मैं क्यों। क्या डेढ़ चुल्लू पानी में , ईमान बह गया….!  

क्या खूब सिलसला रहा मेरे सफर का, समझ नहीं आया की नशा मोहब्बत का या शराब का। 

क्यों तुम उसकी याद को बर्बाद किये जा रहे हो... वो शराब है, उसे भूलने को दवा जो तुम इसे पिए जा  रहे हो.

जाम  पे जाम पीने से क्या फायदा? रात तो उतर जाएगी। किसी की आँखों से पीयो, खुदा की कसम उम्र साड़ी नशे में गुज़र जाएँगी। 

अधिक पूछे जाने वाले सवाल 

ऐसे बहुत लोग होते है जिनको शराब के फायदे या नुकसान का पता नहीं होता है तो इसलिए हमने इस best sharab shayari में उन सारे सवालों के उत्तर देने का प्रियस किया है। 

Q-1 क्या शराब पीना सही है?
Ans - काम मात्रा में पि गई शराब से कोई नुक्सान नहीं होता है लेकिन शराब को आशिक मात्रा में पीते है तो काफी सारी बीमारिया और मानशिक बीमारी हो सकती है। 

 Q-2 क्या शराब पीना फयदेमंद है ?
Ans - शराब में काफी फायदे होते है लेकिन इसको शंका की नजर से ही देखना उचित है। 

आखिरी शब्द: 

अगर सही से नशा किया जाये तो वो लाभदायक होता है लेकिन वही नशा अगर लिमिट से ज्यादा हो जाये तो वो जानलेवा भी हो सकता है। 

आशा करता  हूँ की आपको ये best sharab shayari पसंद आयी होंगी क्यूंकि ये sharab shayari में मेने उन सब चीजों का जीक्र किया है जो एक व्यक्ति को शराबी बनती है। अगर आपको भी best sharab shayari या और किसी प्रकार की शायरी लिखने का शोक है तो हमें कमेंट में जरूर बताये और अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर करे। 

Related Post:

Post a Comment

0 Comments